Bhavishy Darshan
ग्रह की पीड़ा के उपाय क्यों करें ?
     संसार में प्रत्येक व्यक्ति किसी ग्रह की पीड़ा से दुःखी है। हर व्यक्ति धन-धान्य संपन्न भी नहीं है। यदि अशुभ ग्रहों के प्रभावस्वरूप बार-बार प्रयत्न करने पर भी जीवन में विघ्नों एंव विफलताओं का सामना करना पड़े और भाग्य साथ न देता हो तो अशुभ ग्रहों की अनुकुलता हेतु उपाय करने से अनुकुल फल मिलने आरम्भ हो जाते हैं। अरिष्ट ग्रहों की शान्ती के लिए ज्योतिष शस्त्र में अनेक प्रकार के उपाय बताए गये हैं। व्यक्ति का स्वभाव है कि वह सदैव सुखी रहना चाहता है परंतु विधि के अनुसार धरती पर ईश्वर भी जन्म लेकर जब आया है तो उसे भी ग्रहों की चाल के अनुसार सुःख-दुःख सहना पड़ा। हम अपने जीवन में आने वाले दुःखों को कम करने अथवा उनसे बचने हेतु उपाय करना चाहते हैं और उपायों का विधि-विधान एंव श्रद्धा से पालन करने से दुःखों का अंत तो नहीं होता परंतु उनमें कमी निश्चित रूप से होती है। साथ ही में दुःख सहने की शक्ति आ जाती है।
उपाय क्या करें :
     मनुष्य के जीवन महत्व उसके शरीर का है, उतना ही महत्व सूर्य, चंद्र आदि ग्रहों अथवा आस-पास के वातावरण का भी है। यह सर्वसत्य है कि ग्रहों का प्रभाव मानव जीवन पर पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में कोई ग्रह दोष होता है तो वह धन संबंधी मामलों में भी सफलता प्राप्त नहीं कर पाता है। ग्रह दोषों के कारण ही उसे सुख नहीं मिलता। यदि उचित ज्योतिषय उपचार किया जाए तो व्यक्ति धन की परेशानी से छुटकारा पा सकता है। यदि आपके जीवन में धन की कमी है, कर्ज मुक्ति चाहते हैं, व्यापार चाहते हुए भी नहीं बढ़ पा रहा है, शत्रु परेशान कर रहे है, स्वास्थ्य की कमी उन्नती में बाधक बन रही है, आरोग्य का अभाव है, संतानहीनता आपके जीवन के सुखों को ग्रसीत कर रही है, यदि संतान है भी तो सुख-सहयोग नहीं देती है, नौजवान अपने विवाह माता-पिता अपनी कन्या अथवा पुत्र के विवाह को लेकर चिंतित रहते है, विवाह के बाद वैवाहिक जीवन की सुख-शान्ती को लेकर परेशानियां बनी रहती है, किसी व्यक्ति की कुंडली में कालसर्प दोष है इसलिए वह जीवन में बढ़ने में सफल नहीं हो पा रहा है और कोई व्यक्ति शनि कष्टों के कारण मानसिक अशान्ति की स्थिती से गुजर रहा है। 
     व्यक्ति को जीवन एक ही समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है अपितु जीवन समस्याओं का अथाह सागर है, इसलिए किसी ने सच ही कहा है ‘दुखिया नानक सब संसार’। किसी व्यक्ति के पास सब कुछ है पर कोर्ट कचहरी, शिक्षा में बाधा, नौकरी में स्थायित्व की कमी या मनोकूल स्थानान्तरण नहीं हो पा रहा है। कुछ इसी प्रकार की समस्याओं का सामना आपको करना पड़ रहा है इसके लिए यह आवश्यक है की २४ घंटे की दिनचर्या में से कुछ समय उपायों के लिए भी अवश्य निकले जिससे जीवन में चल रही समस्याओं में लाभ मिल सके ।
Bhavishy Darshan
Home
YourQuery
Rashiphal
Horoscope
favGems
LalKitab
Matching
Rahukal
Consultation
Chaukaria
Panchang
Gems
BabyName
Asc.Table
Education
TarotCard
Prog.Name
Numerology
About us
DISCLAMER-There are no guarantees that every person using this service will get their desired results for sure. Astrological results depend on a lot of factors and the results may vary from person to person.