Bhavishy Darshan
सन्तान कष्ट निवारण उपाय
यंत्र : बालगोपाल यंत्र एवं बृहस्पति यंत्र का नित्य पूजन करें। 
मंत्र : कमलगट्टे या मूंगा माला से " ॐ श्रीं ऐं संतानलक्ष्मी पूर्ण सिद्धि ऐं श्रीं नमः " मंत्र की 11 माला जाप करें।
रत्न/लॉकेट : मोती-चांद लॉकेट अथवा स्वास्थ्यवर्धक त्रिशक्ति लॉकेट संतान को धारण करयें। (किसी योग ज्योतिषी से परामर्श लेने के पश्चात ही धारण करें)
कवच : गले मैं कष्ट निवारण हेतु सिद्ध महामृत्युंजय रक्षा कवच धारण करें।
रूद्राक्ष : गौरी गणेश रूद्राक्ष धारण करें।
व्रत : अहोई अष्टमी व्रत, शुक्रवार का व्रत, जीवत्पुत्रिका व्रत का पालन करेें।
दान : गरीब बालक-बालिकाओं को पढ़ाएं एवं वस्त्र, काॅपी तथा पुस्तकों का दान करें।
दर्शन : पारद शिव परिवार एवं पारद शिवलिंग के नित्य दर्शन करें।
विसर्जन : संतान कुण्डली के षष्ठेश की वस्तुएं बहते जल में प्रवाहित करें।
शनि मन्दिर में 10 बादाम चढ़ाकर उसमें से 5 बादाम घर में लाकर रखें। एक या दो साल बाद उन्हें बहते जल में प्रवाहित करें।
स्तोत्र : अथ बृहस्पतिकवचम् का पाठ संतान के स्वास्थ्य को बढ़ाता है।
टोटके : 1- गाय की सेवा करें।
2- एक काला रेशमी डोरा लेकर " ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः "
का जाप करते हुए उस डोरे में थोड़ी-थोड़ी दूरी पर सात गांठें लगायें। उस डोरे को बच्चे के गले या कमर में बांध दें।
3- प्रत्येक मंगलवार को बच्चे के सिर पर कच्चा दूध 11 बार वार कर किसी जंगली कुत्ते को शाम के समय पिला दें, बच्चा दीर्घायु होगा।  
हवन, यज्ञ: संतानलक्ष्मी की साधना करायें।
Bhavishy Darshan
Home
YourQuery
Rashiphal
Horoscope
favGems
LalKitab
Matching
Rahukal
Consultation
Chaukaria
Panchang
Gems
BabyName
Asc.Table
Education
TarotCard
Prog.Name
Numerology
About us
DISCLAMER-There are no guarantees that every person using this service will get their desired results for sure. Astrological results depend on a lot of factors and the results may vary from person to person.